भूमि सर्वे का फॉर्म ऑनलाइन भरे | वंशावली स्वघोषणा पत्र और फॉर्म भरें

बिहार में भूमि सर्वे का फॉर्म का काम चालू हो गया है 20 जिलों में काम चालू है अगर आप इन 20 जिलों में आते हैं तो आपको भूमि सर्वे फॉर्म भरना होगा भूमि सर्वे फॉर्म भरने के लिए आपको सबसे पहले वंशावली या स्वघोषणा पत्र भरना होगा यह सारे फॉर्म भर से आपको ऑनलाइन शिविर में जमा करना होगा भूमि सर्वे फॉर्म भरने के लिए ऑनलाइन शिविर में फार्म जमा हो रहा है यदि आप करना चाहते हैं तो भूमि सर्वे का फॉर्म तुरंत से तुरंत भर दे भूमि सर्वे फॉर्म कैसे भरना है इसके बारे में पूरी जानकारी इस पोस्ट में लिखी गई है आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें उसके बाद यह भूमि सर्वे का फॉर्म भरे

जमीन का भूमि सर्वे का फॉर्म कैसे भरें | भूमि सर्वे का फॉर्म कैसे भरें

वंशावली फॉर्म कैसे भरें | भूमि सर्वे में घोषणा पत्र कैसे भरें

GYAN TAK 

youtube contact gyan tak  twitter contactinstagram contact facebook        

Importent Date

Online registration opening Date:- 11-08-2021
Online registration Closing Date:-NA

Application Fee

Rs:-NO

भूमि सर्वे इन इन जिलों में ऑनलाइन भूमि सर्वे का फॉर्म भरा जा रहा है

पश्चिमी चंपारण शिवहर सीतामढ़ी किशनगंज अररिया पूर्णिया कटिहार बांका मधेपुरा खगड़िया लखीसराय बेगूसराय मुंगेर सुपौल सहरसा सहरसा शेखपुरा जमुई जहानाबाद अरवल और नालंदा में भूमि सर्वे काम चल रहा है

 

भूमि सर्वे में कौन-कौन से कागजात की जरूरत होगी

भूमि सर्वे प्रपत्र 2 फॉर्म बिहार के जमीन के मालिक को शिविर में जमा करना होगा इस फॉर्म के साथ आपको निम्न कागजात भी देने होंगे

  1. स्व घोषणा प्रमाण पत्र
  2. जमाबंदी संख्या की विवरण या मालगुजारी रसीद की छाया प्रति
  3. खतियान की नकल
  4.  मृत्यु की तिथि यानी मृत्यु प्रमाण पत्र की छाया प्रति
  5. आवेदक या हित अर्जन करने वाले  वाले का मृतक का बारिश होने का प्रमाण पत्र
  6. यदि किसी भूमि सक्षम न्यायालय द्वारा कोई आदेश दिया गया होगा तो उस आदेश का सचिव प्रति आपको जमा करना होगा

भूमि सर्वे का फॉर्म में स्व घोषणा फॉर्म क्या है

भूमि सर्वे का फॉर्म में स्वघोषणा फॉर्म जमीन मालिकों द्वारा दिए जाने वाला फॉर्म है इस फॉर्म में जमीन मालिक अपने जानकारी के हिसाब से जितना जमीन का वह दखल कब्जा कर रहे हैं उसके अनुसार से उस जमीन के दखल कब्जा के अनुसार से उनके ] जमाबंदी चल रहा है रसीद कट रहा है या उनका बहुत दिनों से दखल कब्जा है तो जमीन का इसमें अपना डिटेल भरेंगे | इस  फार्म में वह सारी जानकारी रहेगी जैसे जमीन का खाता नंबर खेसरा नंबर जमीन का रकबा कौन से डॉक्यूमेंट के आधार पर यह जमीन दखल कब्जा किया गया है तथा अपने जानकारी के हिसाब से सत्यापित करेगा और इसे शिविर में जमा करेगा वंशावली लगाकर |

नोट:- यह भूमि सर्वे का सबसे महत्वपूर्ण फॉर्म है अतः जमीन मालिकों से निवेदन है कि यह फॉर्म भरते समय किसी प्रकार की गलती ना करें

इस फॉर्म को कैसे भरना है इसका पूरा डिटेल ज्ञान तक यूट्यूब चैनल पर मिल जाएंगे तथा इस फॉर्म को डाउनलोड करने के लिए नीचे लिंक दिए हुए हैं

वंशावली का उपयोग क्यों किया जाता है ?

 बिहार में पुरानी भूमि यानी खतियान भूमि होने के कारण या मृत व्यक्ति  जिनके नाम से अभी तक रसीद कटते चला आ रहा है या जिनका जमाबंदी नाम से चल रहा है वह अभी मृत हो गए हैं यानी कि मृतक जमाबंदी है उस केस में उनके वंशज अभी जीवित हैं और उनके वंशज द्वारा अभी दखल कब्जा कर रखे हैं और उनके वंशज को सत्यापित करने के लिए वंशावली का प्रयोग किया जाता है ताकि पता चले कि इनके पूर्वज का ही यह जमीन था  इसे ग्राम सभा द्वारा ग्राम पंचायत मुखिया वार्ड द्वारा सत्यापित किया जाता है gyan tak

नोट:-वंशावली का सत्यापन हिंदू और मुस्लिम के अलग-अलग नियमों से होंगे

वंशावली फॉर्म कहां और क्या-क्या डॉक्यूमेंट साथ में अटैच करके जमा करना होगा ?

  • वंशावली फॉर्म या स्वघोषणा फॉर्म दोनों फॉर्म को आप चाहे तो ऑनलाइन के माध्यम से भी शिविर में आप जमा कर सकते हैं ऑनलाइन के माध्यम में शिविर में जमा कैसे किए जाते हैं ऑनलाइन कैसे किए जाते हैं ज्ञान तक यूट्यूब चैनल पर आपको मिल जाएंगे

दूसरा माध्यम

  • ⇒ भूमि सर्वे का फॉर्म वंशावली फॉर्म को अच्छा से भरकर आप चाहे तो अपने ग्राम पंचायत सर्वे शिविर में भी जमा कर सकते हैं चाहे तो सर्वे शिविर के कानूनों या अमीन के पास यह फॉर्म आप जमा कर सकते हैं इस फॉर्म के साथ आपको निम्न प्रकार के डॉक्यूमेंट भी लगेंगे 

    1. मृत जमाबंदी की मृत्यु की तिथि या वर्ष
    2. जमाबंदी संख्या का विवरण या मालगुजारी
    3. खतियान की नकल
    4.  भूमि से संबंधित दस्तावेज
    5. न्यायालय का आदेश हो तो न्यायालय का कॉपी
    6. मृतक के वारिस होने का प्रमाण पत्र
    7. आवेदन कर्ता के आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड का फोटो कॉपी

वंशावली का सत्यापन कौन करेगा ?

⇒  भूमि सर्वे का फॉर्म वंशावली का सत्यापन का काम आमीन तथा कानूनों द्वारा किया जाएगा अमीन तथा कानूनगो का इसमें काम है कि वह ग्राम सभा में जाकर स्थानीय जनप्रतिनिधि से मिलकर जैसे की मुखिया वार्ड सरपंच से मिलकर वह प्लॉट खाता नंबर के के साथ वंशावली का सत्यापन होगा | gyan tak

Important Link
Apply OnlineClick Here
डाउनलोड स्वघोषणा पत्र
Click Here
डाउनलोड वंशावली फार्मप्रपत्र -3(1)प्रपत्र -3(1.1)
Official WebsiteClick Here

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top